टी-20 की ड्रीम टीम में कौन है आपका चहेता खिलाड़ी, धोनी की कप्तानी में चुनिए टीम

Sports
Spread the love

 

क्रिकेट में आए दिन नित-नए प्रयोग हो रहे हैं. टी-20 क्रिकेट के बाद टी-टेन क्रिकेट के आयोजन की बात भी होने लगी है और देर-सवेर दस-दस ओवरों का मैच खेला जाने लगेगा. कभी वनडे क्रिकेट में तीन सौ रन पहाड़ जैसे लगते थे लेकिन अब चार सौ से ज्यादा रन भी बनने लगे हैं. न सिर्फ यह कि बनने लगे हैं बल्कि लक्ष्य का पीछा करती हुई दूसरी टीमें भी आसानी से इसे पार कर लेती हैं. टेस्ट मैचों की नीरसता भी खत्म हुई और ज्यादातर टेस्ट के नतीजे सामने आने लगे है. क्रिकेट जगत में इसका स्वागत तो हो ही रहा है. माना जा रहा है कि टी-20 क्रिकेट क वजह से क्रिकेट में यह बदलाव आया है. टी 20 प्रारूप की शुरुआत ने क्रिकेट की परिभाषा को बदल कर रख दी है. अब टेस्ट मैचों के ड्रॉ होने की संभावना कम हो गई है और वनडे प्रारूप में टीमें आसानी से 350 से ज्यादा के स्कोर का पीछा कर रही हैं. वहीं टी-20 में होने वाली चौके और छक्कों की बारिश ने क्रिकेट प्रशंसकों का भरपूर मनोरंजन किया है. ऐसे में विश्व के सर्वश्रेष्ठ टी-20 खिलाड़ियों की एकादश के बारे में जानना दिलचस्प होगा. जाहिर है कि टी-20 विश्व इलेवन की अब तक की सर्वकालिक टीम चुनना मुश्किल भी नहीं है.

वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल बतौर ओपनर इस टीम में पहली पसंद हैं. वे विश्व के सर्वश्रेष्ठ टी-20 बल्लेबाज हैं. उन्होंने इस प्रारूप में लगभग सभी रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं, चाहे वे वेस्ट इंडीज के लिए खेलें या किसी फ्रेंचाइजी टीम के लिए. ‘यूनिवर्सल बॉस’ टी -20 क्रिकेट में दस हजार रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं और वे लगातार रन बना रहे हैं. गेल ने 335 टी-20 मैचों में, 40 से ज़्यादा की औसत और 148.57 की स्ट्राइक रेट से कुल 11454 रन बनाए हैं जिसमें 21 सेंचिरी और 70 हाफ सेंचुरी शामिल हैं. गेल अपनी आतिशी बल्लेबाजी की वजह से सबसे ख़तरनाक बल्लेबाज माने जाते हैं. इसलिए निश्चित रूप से वह इस सूची में पहले खिलाड़ी हैं. ड्रीम टीम में आस्ट्रेलियाई ओपनर  डेविड वार्नर को रखा जा सकता है. अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं वे. उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में बिना एक भी मैच खेले बिना सीधे अंतराष्ट्रीय टी-20 से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने पहले टी -20 मैच में उन्होंने धमाकेदार बल्लेबाज़ी करते हुए 43 गेंदों में शानदार 89 रन बनाए थे. तब से, वार्नर ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और लगातार अपने प्रदर्शन से उन्होंने क्रिकेट प्रशंसकों का भरपूर मनोरंजन किया है. टी-20 में उन्होंने कई रिकॉर्ड बनाए हैं. आंकड़ों की बात करें तो वॉर्नर ने 243 टी-20 मैचों में, 35.33 की औसत और 143.54 की स्ट्राइक रेट से कुल 7500 रन बनाए हैं जिनमें 6 शतक और 59 अर्धशतक शामिल हैं. वार्नर आईपीएल में भी बहुत सफल रहे हैं और 2016 में उनके नेतृत्व में सनराइजर्स हैदराबाद ने ख़िताबी जीत दर्ज की थी.

नंबर तीन पर भारतीय कप्तान विराट कोहली से बेहतर कौन हो सकता है. फिलहाल वे दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. कोहली ने अभी तक खेले सभी टी -20 मैचों में 40 की औसत और 133.33 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 7744 रन बनाए हैं. जबकि टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने लगभग 50 की शानदार औसत से रन बनाए हैं. उन्होंने भारत को अपने प्रदर्शन के बूते कई मैच जिताए हैं और दबाव में भी बढ़िया प्रदर्शन किया है. कोहली ने अपने टी -20 करियर में चार शतक लगाए हैं और चारों शतक उन्होंने आईपीएल सीजन 2016 में बनाए थे. नंबर चार पर एबी डिविलियर्स के नाम पर किसी को एतराज नहीं हो सकता है. हालांकि डिविलियर्स ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया है. लेकिन वे दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक रहे हैं और उनके संन्यास लेने से विश्व क्रिकेट अभी भी सकते में है.

डीविलियर्स के पास किसी भी गेंद को मैदान के चारों ओर मारने की अदभुत क्षमता है. वे क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शानदार फ़िनिश साबित हुए हैं. टी-20 करियर में, डीविलियर्स ने 147.91 की जबरदस्त स्ट्राइक रेट से तीन शतक और 45 अर्धशतकों के साथ कुल 6649 रन बनाए हैं. अंतरराष्ट्रीय वनडे प्रारूप में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड उनके नाम है, उन्होंने 31 गेंदों में यह शतक बनाया था. सुरेश रैना टी-20 प्रारूप के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है और उनका रिकॉर्ड इसकी तसदीक करता है. रैना ने आईपीएल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. आईपीएल में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी उनके नाम दर्ज है. उन्होंने 176 आईपीएल मैचों में कुल 4985 रन बनाए हैं. भारतीय टीम को उन्होंने कई बार अपने प्रदर्शन से जीत दिलाई है वे किसी टी-20 मैच में शतक बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. टी-20 में उनके प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने 296 मैचों में 140 के स्ट्राइक रेट के साथ कुल 7929 रन बनाए हैं.

टीम की कप्तानी और विकेटकीपर के लिए महेंद्र सिंह धोनी से बड़ा नाम नहीं हो सकता. उन्होंने 2007 के पहले टी-20 विश्व कप और 2011 में हुए वनडे विश्व कप में भारत को ख़िताबी जीत दिलाई थी. अपने करियर में खेले कुल 297 मैचों में, उन्होंने 136.18 की अच्छी स्ट्राइक रेट के साथ 6075 बनाए हैं. बांग्लादेश के शाकिब अल हसन विश्व क्रिकेट में बेहतरीन ऑलराउंडरों में से एक हैं. फिलहाल आईसीसी वनडे रैंकिंग में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ऑल-राउंडर्स की सूची में तीसरे स्थान पर हैं. शाकिब ने बल्ले और गेंद दोनों के साथ बेहतरीन प्रदर्शन किया है. अपने टी -20 करियर में, उन्होंने 121.76 की अच्छी स्ट्राइक रेट से 4000 से अधिक रन बनाए हैं, और गेंदबाज़ी में 6.83 की प्रभावशाली इकोनॉमी रेट के साथ 310 विकेट लिए हैं. टी-20 प्रारूप में एक अच्छी टीम होने के लिए टीम में ऑलराउंडरों का होना बहुत जरूरी है और शाकिब इस भूमिका के लिए एकदम उपयुक्त हैं.

वेस्ट इंडीज के ड्वेन ब्रावो सर्वश्रेष्ठ टी-20 ऑलराउंडर हैं. ब्रावो टी-20 में 400 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी भी हैं. ब्रावो किसी भी टीम के लिए एक ट्रंप कार्ड साबित हो सकते हैं. उन्होंने दुनिया में लगभग हर टी-20 लीग में खेला है और सभी टीमों के ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. अपने टी-20 करियर में उन्होंने लगभग आठ से ऊपर की इकोनॉमी रेट के साथ 433 विकेट लिए हैं. बल्लेबाजी की बात करें तो उन्होंने 396 मैचों में 125 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 5700 रन बनाए हैं. वेस्ट इंडीज के ही स्पिनर सुनील नारायण सर्वश्रेष्ठ स्पिनर है. नारायण टी-20 में सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक रहे हैं और उनका प्रदर्शन अविश्वसनीय रूप से असाधारण रहा है. अपने टी-20 करियर में खेले कुल 287 मैचों में, उन्होंने 20 से नीचे की औसत से 334 विकेट लिए हैं. अपने पूरे टी-20 करियर में उन्होंने सिर्फ 5.92 की इकोनॉमी रेट से रन दिए हैं. इसके अलावा बल्ले के साथ भी उन्होंने असाधारण प्रदर्शन किया है और लगभग 150 की स्ट्राइक रेट के साथ रन बनाए हैं जिनमें छह अर्धशतक भी शामिल हैं.

टी-20 प्रारूप में बतौर गेंदबाद लसिथ मलिंगा का नाम सबसे पहले आता है. वे अपने कौशल और धारदार गेंदबाजी की बदौलत इस सूची में बेहद अहम खिलाड़ी हैं. टॉय-क्रशिंग यॉर्कर, धीमी गेंदें या बाउंसर, मलिंगा ने इन सबमें पूर्ण महारत हासिल की है. इस प्रारूप में मलिंगा सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं और उन्होंने 6.87 की अविश्वसनीय इकोनॉमी रेट के साथ 348 विकेट लिए हैं. पाकिस्तान के उमर गुल इस टीम में शामिल होने वाले आखिरी खिलाड़ी हैं. वैसे उमर गुल का नाम हैरत में डाल सकता है लेकिन जब टी -20 क्रिकेट की बात आती है, तो गुल सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों की सूची में शीर्ष स्थान पर है. गुल की सटीक और विविधतापूर्ण गेंदबाजी उन्हें इस सूची में स्थान दिलाती है. जब गेंद पुरानी हो जाती है, तब उनके तेज रिवर्स स्विंगिंग यॉर्कर को संभालना बहुत मुश्किल होता है, यही कारण है कि वे डेथ ओवरों के सबसे अच्छे खिलाड़ी हैं. गुल ने टी-20 प्रारूप में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. उन्होंने 7.45 की इकोनॉमी रेट से 202 विकेट लिए हैं. उनका योगदान पाकिस्तान टीम के लिए अमूल्य रहा है और उन्होंने 2009 के टी-20 विश्वकप में अपनी टीम की खिताबी जीत में अहम भूमिका थी. (क्रिकेट पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फालो करें).

Leave a Reply