कामसूत्र दुनियाभर में प्रचलित कैसे हुआ ?

Uncategorized
Spread the love

कामसूत्र की अनुवादित पुस्तकों में विभिन्न सेक्स पोजीशन्स को फोटो के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है, जबकि मूल ग्रंथ को ऐसा नहीं किया गया था। इस तरह के अनुवादित पुस्तकों से ज्यादातर पाठकों का ध्यान कामसूत्र की मुख्य पृष्ठभूमि पर गया ही नहीं और वह इस ग्रंथ में बताए गए महिला व पुरुष के संबंधों की आत्मियता, काम व कर्तव्यों के बारे में गहराई से नहीं समझ पाए। इसकी जगह पर पाठकों का ध्यान केवल सेक्स पोजीशंस और उस दौरान की जाने वाली क्रियाओं पर ही केंद्रित होकर रह गया।

google images

वर्ष 1970 के बाद पोर्न इंडस्ट्री ने कामसूत्र को आधार बनाते हुए कई फिल्मों का निर्माण करना शुरू कर दिया और वह कामसूत्र की सेक्स पोजीशंस को प्रचलित करने लगे। इसका परिणाम यह हुआ कि मात्र सेक्स पोजीशंस की पुस्तक के रूप में कामसूत्र पहचाना जाने लगा। इस रूप में कामसूत्र आज दुनियाभर में प्रचलित है।

कामसूत्र का महत्व आज के समय में

कुछ समय पहले जहां लोग सेक्स के बारे में बात करने तक से कतराते थे, वहीं आज का युवा वर्ग इस विषय को विस्तार से जानने का इच्छुक है। आज युवा कामसूत्र को सेक्स विषय में शिक्षित करने वाली पुस्तक मानते हैं। इसके सही अनुवाद को पढ़ने से युवाओं को सेक्स करने के तरीकों को समझने के साथ ही साथ महिला व पुरुष के रिश्तों के अन्य कर्तव्यों के बारे में भी जानने का मौका मिलता है। इससे लोग सेक्स के दौरान की जाने वाली गलतियों से बच जाते हैं और चरमसुख आसानी से प्राप्त करते हैं। कामसूत्र से लोगों के जीवन की यौन क्रियाओं में सकारात्मक प्रभाव होता है। इस ग्रंथ की सहायता से महिला व पुरुष दोनों ही अपनी-अपनी भूमिका को आसानी से समझ पाएं हैं।

google images

Leave a Reply