महिला नसबंदी के क्या क्या नुकसान है, जानिये विस्तार से

Health
Spread the love

female sterilization age,female sterilization side effects,female sterilization recovery time,female sterilization advantages and disadvantages,female sterilization options,female sterilization video,problems after female sterilisation,how long to recover after sterilization

नसबंदी एक स्थायी प्रक्रिया है और इसे बदलना कठिन है। कुछ महिलाओं को ऑपरेशन करवाने के बाद भविष्य में पछतावा हो सकता है, विशेष कर तब जब उनकी परिस्थितियां बदल जाती है।

बहुत ही कम ऐसा होता है की ऑपरेशन फैल हो जाए और आप गर्भवती हो जाएं, ऐसे में गर्भाशय के बाहर ही गर्भ ठहरने की अधिक आशंका होती है, इसे एक्टोपिक प्रेगनेंसी कहा जाता है। इस तरह का गर्भ आमतौर पर फेलोपिन ट्यूब में ठहरता है। अगर ऐसा होता है तो आपको तत्काल इलाज की जरुरत पड़ती है। अगर आपको लगता है कि नसबंदी करवाने के बाद भी आप गर्भवती हो गयी है या बिना बात के खून आ रहा है या पेट में दर्द हो रहा है तो तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाए।

पुरुष नसबंदी की तुलना में महिला नसबंदी करवाना न तो आसान है और न ही उतना प्रभावशाली। लैप्रोस्कोप का उपयोग करने से थोड़ा जोखिम होता है क्योंकि बिना कोई इमेज देखे ऑपरेशन करना पड़ता है। इसका मतलब यह है की सर्जन को यह नहीं दिखता है कि वह पेट के अंदर उपकरण कैसे लगा रहा है। यह बात आपको थोड़ा परेशान कर सकती है किंतु घबराने की कोई बात नहीं है क्योंकि आपके डॉक्टर उपकरण लगाते हुए काफी सावधानी रखते हैं ताकि किसी अन्य अंग को नुकसान न हो और अधिकांश मामलों में ऐसी कोई परेशानी नहीं होती है।

नसबंदी आपको सेक्स द्वारा फैलने वाली बिमारियों से नहीं बचाती है इसलिए अगर आपको लगता है कि आपको एसटीआई का जोखिम हो सकता है तो कंडोम का उपयोग करें।

किसी भी अन्य ऑपरेशन की तरह इसमें भी चीरे वाली जगह पर संक्रमण हो सकता है और जनरल एनेस्थेटिक का हल्का जोखिम हो सकता है। आपको पेट में परेशानी, गैस बनना और दर्द हो सकता है।

Leave a Reply