महिलाओं को गर्भवती बनाने के लिए सर्वोत्तम तरीके और समय

Health
Spread the love

प्रेग्नेंट होने के उपाय सही समय और तरीका इन हिंदी: शादी के बाद एक महिला के जीवन में गर्भधारण करने का टाइम और माँ बनने का पल सबसे खूबसूरत होता है पर कई बार कुछ कारणों से महिला को प्रेगनेंसी में देरी हो जाती है। ऐसे में उनके मन में कुछ सवाल होते है जैसे की बच्चा पैदा करने का सही समय क्या है, प्रेग्नेंट होने के लिए कब मेल करे, महिला पीरियड के कितने दिन बाद प्रेग्नेंट होती है, गर्भ ठहरने के लिए क्या करें और प्रेगनेंट कैसे करे। गर्भवती ना होने का कारण शारीरिक व मानसिक कोई भी हो सकता है। कुछ ही ऐसे लोग होते है जिन्हें ये जानकारी नहीं होती की प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करना चाहिए। कुछ महिलायें जल्दी गर्भवती होने के लिए तरीके में दुआ, टोटके, टेबलेट और दवा का सहारा लेती है पर आप प्रेग्नेंट होने का सही तरीका, सही टाइम, दिन, शुरुआती लक्षण, सावधानी और कुछ उपाय से आसानी से जान सकते है की वीमेन प्रेगनेंट कैसे होती है।

google images

अगर आप निकट भविष्य में गर्भवती होने की सोच रही है तो गर्भ गिराने व गर्भ ठहरने से रोकने वाली दवा के सेवन से दूर रहे। आजकल की जीवनशैली में पुरुष और महिला की प्रजनन शक्ति का स्तर काफी कम होता जा रहा है ऐसे में महिला हो या पुरुष किसी की भी बांझपन की समस्या में डॉक्टर की सलाह से प्रेग्नेंट होने के अन्य तरीके अपनाने चाहिए।

पीरियड कितने दिन बाद आते है

  • कुछ महिलाओं को मासिक धर्म समय पर होते है तो कुछ को अनियिमित होते है, मतलब समय से पहले आना या समय के बाद होते है।
  • जिन वीमेन को पीरियड सही टाइम पर आते है उन्हें गर्भ धारण करने में ज्यादा समस्या नहीं आती।
  • जिन्हें समय पर पीरियड्स नहीं आते और जिनके लिए ये पता लगाना मुश्किल होता है की period कब आएंगे उन्हें गर्भवती होने में थोड़ी मुश्किल आती है पर इसका ये मतलब नहीं की वे प्रेग्नेंट नहीं हो सकती।
  • बच्चा पैदा करने का तरीका और शारीरिक मेल के बारे में खुल कर बात ना करने की वजह से बहुत से लड़के और लड़कियों को सही समय पर जरुरी जानकारी नहीं मिल पाती जिस कारण शादी के बाद उन्हें प्रेगनेंसी में परेशानी होती है।

 

प्रेग्नेंट होने के उपाय सही समय और सही तरीका

गर्भवती होने के लिए शारीरिक मेल करना जरुरी है पर सबसे जरुरी है ये मेल सही समय पर हो और सही टाइम की जानकारी ovulation time से पता चलती है, ये टाइम गर्भ धारण करने का उचित समय होता है। आइये जानते है गर्भधारण करने का सही तरीका क्या है और ओव्यूलेशन पीरियड क्या होता है।

ओव्युलेशन टाइम कैसे पता करे

1. प्रेग्नेंट होने के लिए ओव्यूलेशन पीरियड सबसे अच्छा समय है। यह एक तरह से मासिक धर्म से जुड़ा हुआ समय ही है।

2. ओव्यूलेशन पीरियड कब शुरू होता है ये जानने से पहले ये समझ ले की हर महिला का ओव्युलेशन का समय अलग अलग होता है।

3. Ovulation का समय जानने के लिए महिला को पीरियड्स टाइम का पता होना चाहिए।

4. पीरियड शुरू होने के लगभग 12 से 14 दिन पहले का टाइम ही ओव्युलेशन होता है और ये पीरियड आने के 7 दिन पहले तक रह सकता है। ओव्यूलेशन ही वह टाइम है जिसमें अगर संबंध बनाये जाये तो गर्भ ठहरने की संभावना शत प्रतिशत होती है।

5. ओव्यूलेशन के समय (पीरियड्स के 12 – 14 दिन पहले) और उसके अगले 5 दिन महिला की प्रजनन क्षमता बहुत जादा होती है।

6. मान लीजिये किसी महिला के पीरियड्स 25 को आते है तो उसका ovulation समय 11 से 13 के बीच का हो सकता है।

7. जल्दी प्रेग्नेंट होना चाहते है तो ओव्युलेशन का ध्यान अवश्य रखे। महिला शुक्राणु और अंडे के मिलन से ही गर्भवती होती है। एक बार ओवरी से निकलने के बाद 24 से 36 घंटे तक अंडा जीवित रहता है। इसलिए इस टाइम में संबंध बनाने जरुरी है।

8. ओव्यूलेशन पीरियड के दौरान गर्भधारण करने के लिए हर रोज मेल करने का प्रयास करे और अगर रोज न हो पाए तो 1 दिन छोड़ कर करे। ऐसा करने से शुक्राणु और अंडे के मिलन के आसार बढ़ जाते है और संभवना बढ़ जाती है।

9. जिन महिलाओं को उनके पीरियड्स आने की सही तारीख मालूम होती है उनके लिए ओव्युलेशन टाइम पता करना और प्रेगनेंसी प्लान करना आसान होता है पर कुछ जिन महिलाओं के लिए अनियमित मासिक धर्म की समस्या गर्भवती ना होने का बड़ा कारण होता है।

10. जिन्हें पीरियड समय पर नहीं आते उन्हें प्रेग्नेंट होने के उपाय शुरू करने से पहले अपने irregular periods का इलाज करना चाहिए।

Leave a Reply